हजारों की दवाई खाने से अच्छा है एक पौधे की एक पत्ती तोड़कर सुबह रोज खाएं।

कढ़ी पत्ता में कई प्रकार के औषधीय गुण होते हैं, जो कि स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होते हैं। इसे मीठी नीम के नाम से भी जाना जाता है। करी पत्तों में बहुत मात्रा में प्रोटीन और बीटा कैरोटीन होता है। भोजन के स्वाद को बढ़ाने का काम करती है। इन पत्तों में मौजूद एंटीआॅक्सीडेंट गुण कोलेस्ट्रॉल को बढ़ने से तो रोकते ही हैं साथ ही साथ ये हार्ट अटैक की संभावना को भी खत्म कर देता है। यह लीवर को बैक्टीरिअल तथा वायरल इन्फेक्शन से बचाता है। इसके अलावा यह हेपेटाइटिस, सिरोसिस आदि कई प्रकार की बीमारियों से लीवर को बचाता है।

करी पत्ते में ऐंटी-ऑक्सिडेंट, ऐंटी-बैक्टीरियल और ऐंटी-फंगल गुण पाए जाते हैं। यह त्वचा से जुड़ी कई समस्याओं के समाधान में सहायक है।

इसके पत्ते में मौजूद पोषक तत्व बालों को जल्दी सफेद नहीं होने देते और बालों का झड़ना भी कम करते हैं।

यह पत्ता एसिडिटी या बदहजमी होने से बचाता है और पेट को शांत रखने में सहायता करता है।

रक्ताल्पता के रोगी को करी पत्ता का भरपूर सेवन करना चाहिए।

अपने भोजन में कढ़ी पत्ते की मात्रा बढ़ाएं या फिर रोज सुबह तीन महीने तक खाली पेट कढ़ी पत्ता खाएं तो फायदा होगा। कढ़ी पत्ता मोटापे को कम कर के डायबिटीज को भी दूर कर सकता है।

क्या आपने कभी कढ़ी पत्ता का प्रयोग किया है तो जरूर बताएं।